Google सर्च के टॉप पर आने के लिए करे इन ट्रिक को फ़ॉलो

इस इंटरनेट के दौर में आज हर कंपनी और वेबसाइट चाहती है की वह गूगल सर्च में हमेशा ही टॉप सर्च में बनी रहे है जिसके लिए कई वेबसाइट के यूजर कई टिप्स का यूज भी करते है परन्तु फिर भी वह गूगल सर्च के टॉप पॉजिशन में नही आ पाते है और गूगल की इस प्रोसेस को Algorithm कहा जाता है जिस तरह किसी भी काम को करने से पहले हम सोचते जरुर है की इस काम को करने के लिए हमें क्या-क्या स्टेप्स को फ़ॉलो करना पड़ेगा ठीक उसी तरह गूगल भी इस Algorithm को किसी भी वेबसाइट या पेज को टॉप पर लाने के लिए यूज करता है कैसे आप भी अपनी वेबसाइट या पेज को Algorithm की हेल्प से गूगल सर्च के टॉप पॉजिशन पर ला सकते है।

इस तरह गूगल रैकिंग देता है  :-

हालांकि गूगल ने हाल ही में अपना Algorithm प्रोसेस को चेंज किया है जिससे गूगल उन्ही वेबसाइट और पेज को पहले दिखाता है जो ज्यादा से ज्यादा रीडेबल हो और उन्हें अधिक बार सर्च किया गया हो इस लिए गूगल सर्च में पहले नंबर पर आने के लिए यूजर को अपने कंटेंट में 4 चीजों का होना बहुत जरुरी होता है।

अधिक क्लिक होना :-

कई वेबसाइट और कंटेंट में रैकिंग के लिए गूगल सबसे पहले उस वेबसाइट के क्लिक को देखता है यानि की जिस भी वेबसाइट एंव पेज में जीतने ज्यादा क्लिक होते है गूगल सर्च उस वेबसाइट को टॉप की पॉजिशन पर दिखाता है और यदि किसी वेबसाइट के क्लिक ज्यादा होने के कारण वह नंबर वन पर थी परन्तु बाद में उसके क्लिक कम होगये तो उस वेबसाइट को गूगल दुसरे या तीसरे नंबर पर दिखाए गा और अधिक क्लिक वाली वेबसाइट पहले नंबर पर आ जाएगी।

ज़रूर पढ़िए

Bounce Rate :-

बाउंस रेट का मतलब होता है की कोई भी यूजर आपके कंटेट तक पहुँच कर दोबारा गूगल सर्च पर आ जाए तो ऐसे स्थिति में गूगल के Algorithm के अनुसार आपका कंटेंट रीडेबल नहीं है या आपने जो जानकारी यूजर को दी वह अधूरी है जिसकी वजह से आप कभी भी गूगल सर्च के टॉप पॉजिशन पर कभी नहीं आ पाएंगे।

यूजर का एवरेज टाइम  :-

यूजर के किसी भी वेबसाइट पर क्लिक करने के बाद में वह जीतनी देर तक आपके कंटेंट पर टिका रहेगा उतनी ही गूगल आपकी वेबसाइट को अच्छी रैकिंग देगा इस लिए गूगल सर्च में नंबर वन आने के लिए यूजर का एवरेज टाइम तक वेबसाइट पर होना बहुत जरुरी होता है।

Traffic source :-

यदि यूजर आपके कंटेंट को किसी सोशल मिडिया और गूगल सर्च के द्वारा पहुँचता है तो गूगल इसके लिए आपको बेहद अच्छी रैकिंग देता है क्योकि ज्यादातर यूजर सोशल मिडिया का ही यूजर करते है और अगर आपकी वेबसाइट का Traffic source बहुत कम है तो आपकी वेबसाइट को दुसरे या तीसरे नंबर पर रख सकता है।