अब India का Digital Map navik पहुंचाएगा मंजिल तक

जब भी हमें कहीं अनजान जगह जाना होता है और रास्ता भटक जाते हैं तो सबसे पहले हमें Google मैप याद आता है जिस की हेल्प से हम आसानी से अपनी मंजिल तक पहुंच सकते हैं आप सब Google मैप के बारे में जानते होंगे Google की यह सर्विस अपना रास्ता सर्च करने में सबसे आसान साबित होती है साथी साथ हमें अपनी लोकेशन के अलावा आसपास के पुरे एरिया की जानकारी आसानी से मिल जाती है हमारे आस पास में कौन सा रेस्टोरेंट है कौन सी शॉप्स मौजूद है वह कहीं ऐसी चीज है हम Google मैप के जरिए आसानी से खोज सकते हैं.

जानिए Google Map के इन फीचर्स के बारे में

लेकिन अब आपको Google मैप पर डिपेंड नहीं रहना होगा बल्कि सिर्फ एक क्लिक पर आप देसी मैप नाभि के सहारे अपनी मंजिल तक पहुंच सकते हैं जी हां नाविक मैप यह Google मैप की तरह ही काम करेगा भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन इसरो ने इसे बनाया है यह प्रोजेक्ट अब अंतिम चरण पर चल रहा है जल्द ही आप इसका उपयोग कर सकते हैं.

Google Map 5 Helpful Features

ISRO ने इसे Digital Map navik नाम दिया है चाइना ने सुरक्षा कारणों से Google मैप पर बैन लगा रखा है भारत भी सुरक्षा के लिहाज से अब अपना डिजिटल मैप लेकर आ रहा है इस प्रोजेक्ट से जुड़े अधिकारियों के अनुसार Google Map और Navik Map में कोई अंतर नहीं होगा इसे इंडिया में साथ ही साथ भारत के पड़ोसी देशों को भी शामिल किया जा सकता है.

इस प्रोजेक्ट की शुरुआत साल 2013 में हुई थी ISRO और IT department ने मिलकर इसे तैयार किया है 2013 में पहली बार सेटेलाइट IRNSS-1 अंतरिक्ष में भेजा गया था Indian Regional Navigation Satellite System अभी तक Satellite के जरिए नाविक के लिए जरूरी इंफॉर्मेशन सिस्टम तैयार किया जा चुका है.

Badhe Kaam Ki Hai GPS Technology Aise Karta Hai Apki Help

उसे ज्यादा अच्छा और सही बनाने के लिए लगभग सैटेलाइट की संख्या 7 से बढ़ाकर 11 करने की योजना है इस साल के आखिरी तक में उम्मीद की जा रही है कि हम इस नाविक मैप का इस्तेमाल कर पाएंगे भारत के लिए यह एक नई उपलब्धि बताई जा रहे हैं जिससे हमें Google मैप पर ही डिपेंड नहीं रहना होगा.

error: Content is protected !!