CCleaner का use करने वाले हो जाएं सावधान

CCleaner का user use अपने smart phone और computer में कई तरह के फालतू का स्पेस,कैश,जंक files और वायरस को delete करने के लिए इस software का use करते है इस CCleaner को लगभग 2 करोड़ बार install किया जा चुका है यही सबसे बड़ा कारण है की हैकर अब CCleaner को अपना Target बनाकर आपके smart phone और computer से डाटा चुराने और use हानि पहुँचाने की तैयारी में लगे है हालाँकि यह भी बताया जा रहा है की हैकर्स ने CCleaner software की Security system को तोड़कर इसमें मैलवेयर को एड कर दिया है जिसकी वजह से अब तक कम से कम 20 लांख user effect हुआ है.

वही internet के Security experts ने A vast का सर्वर खोजा है जिसमे उन्हें CCleaner के भीतर मैलवेयर मिला है और मैलवेयर कितना बड़ा वायरस होता है यह तो आप सब जानते है. Cleaner एक इसी Security और antivirus software A vast का भाग है वही सिस्को तालोस सिक्योरिटी टीम का कहना है की CCleaner वर्जन 5.33 में मल्टी स्टेजड मैलवेयर पेलोड है जो इसे install करते ही आपके system में आ जाते है.

CCleaner हैकर्स के लिए सॉफ्ट टारगेट बना है

CCleaner पुरे इंडिया में सबसे popular app है इस लिए तो हैकर्स ने इसे अपना टारगेट बनाया है क्योंकि हैकर्स इस की help से आपके system का IP address, network place की Information,क्रेडिट कार्ड की Information और आपके password की भी चोरी कर लेता है.

इन user को नहीं है problem

A vast Pirifrom के अनुसार इस मैलवेयर से 20 लांख से भी अधिक computer को affected हुआ है और ज्यादा तर वह जो computer 32 बिट का window है जिनके system में CCleaner का वर्जन 5.33.6162 है उन user के लिए problem हो सकती है लेकिन जिन user ने 12 दिसंबर के बाद में इसे update किया है वह user पूरी तरह से सेफ है क्योंकि यह वर्जन केवल computer में है इस लिए smart phone के user को अभी किसी भी तरह के लिए कोई खतरे की बात नहीं है.