गूगल वेबमास्टर क्या है, Google Webmaster पर वेबसाइट और Blog को कैसे जोड़ें?

जो लोग खुद की वेबसाइट या ब्लॉग चलते हैं उन्होने गूगल वेबमास्टर टूल (Google webmaster tool) का नाम जरूर सुना होगा या फिर वे इसका प्रयोग करते होंगे. दरअसल अगर आप खुद की वेबसाइट शुरू करने की या खुद का ब्लॉग बनाने की सोच रहे हैं तो गूगल वेबमास्टर (Google webmaster) आपके काफी काम का टूल है. ये आपकी वेबसाइट पर अच्छा ट्रैफिक लाने में मदद करता है और साथ ही कई सारे फायदे देता है.

हमारी वेबसाइट पर कितना ट्रैफिक आया (traffic on website tool) ये देखने के लिए तो हम गूगल एनलेटिक (google analytic) का उपयोग करते हैं लेकिन वहाँ पर हम सिर्फ ट्रैफिक देख पाते हैं. लोग हमारी वेबसाइट पर किस कीवर्ड से आ रहे हैं इसकी जानकारी हमे गूगल वेबमास्टर (google webmaster) से मिलती है. साथ ही ये भी जानकारी मिलती है की वेबसाइट का कौनसा URL लोगों को दिक्कत दे रहा हैं.

गूगल वेबमास्टर क्या है? (what is google webmaster and google search console?)

गूगल वेबमास्टर टूल गूगल का ही एक टूल है जो वेबसाइट वालों और ब्लॉगर (best google tool for website and bloggers) के लिए है. इसे गूगल सर्च कंसोल (google search console) भी कहते हैं. ये एक फ्री प्लेटफॉर्म (google free platform) है जो आपकी वेबसाइट पर अच्छा ट्रैफिक लाने और आपकी वेबसाइट में कहाँ क्या गलती हो रही है इस बात को बताने में मदद करता है.

गूगल वेबमास्टर टूल (google webmaster tool) आपकी वेबसाइट की पूरी रिपोर्ट जैसे आपकी वेबसाइट पर लोग किन कीवर्ड को सर्च करके आ रहे हैं, इससे आप आपकी वेबसाइट की indexing कर सकते हैं. आपकी वेबसाइट में क्या-क्या Errors आ रही हैं. इन सभी सुविधाओं का लाभ लेने के लिए आपको गूगल वेबमास्टर टूल में अपनी वेबसाइट को add करना पड़ता है. जिसका पूरा एक प्रोसैस है.

Google webmaster में website या blog कैसे add करें? (how to add website or blog on google webmaster or google search console?)

– Google webmaster में अपनी Website या blog add करने के लिए आपको सबसे पहले google webmaster की website (https://www.google.com/webmasters/tools/) पर जाना होगा.

– Google webmaster पर login करने के लिए आपको Gmail Id की जरूरत होती है. यहाँ आप वो gmail id डालें जिसका प्रयोग आप वेबसाइट के लिए कर रहे हैं.

– अब अपनी वेबसाइट या ब्लॉग को add करने के लिए add property पर क्लिक करें. फिर यहाँ अपनी वेबसाइट या ब्लॉग का URL डालें.

– जब आप URL डालेंगे तो उसके बाद ये आपको एक HTML Code देगा और आपकी वेबसाइट को वेरीफाइ करने की बात कहेगा. आपको उस code को अपनी वेबसाइट में लगाकर अपनी वेबसाइट को वेरिफाइ करना होता है.

– वेबसाइट को वेरिफाइ करने के कई तरीके हैं लेकिन इसे आप बिना सोचे समझें वेरिफ़ाई ना करें. इसे अगर वेरिफ़ाई करना है तो आप इसका प्रोसैस अच्छे से समझें और फिर करें.

– किसी वेबसाइट को वेरिफ़ाई करने के कई प्रोसैस होते हैं जैसे HTML file upload, HTML Tag, google analytic account, google tag manager को चुन सकते हैं. लेकिन ये चारों से वेरिफ़ाई करने के लिए आपको एक कठिन प्रोसैस से गुजरना पड़ता है जिसके कारण आपकी वेबसाइट की coding मे दिक्कत आ सकती है.

– इन चार तरीकों के अलावा आप एक और तरीका अपना सकते हैं जिसे google webmaster भी recommended करता है. इसमें आप अपने डोमैन प्रोवाइडर (domain provider) के जरिये इसे वेरिफ़ाई कर सकते हैं वो भी कुछ आसान स्टेप्स में.

Google पर Free Website बनाकर घर बैठे पैसा कमाए!

– वेबसाइट के अलावा यदि आप ब्लॉग को एड करना चाहते हैं तो आपको कुछ नहीं करना है. जिस गूगल अकाउंट से आपने ब्लॉग बनाया है उसी से आपको लॉगिन करना है और फिर वेबमास्टर में उस ब्लॉग का URL डालना है. आपका अकाउंट तुरंत add हो जाएगा. इसके लिए वेरिफिकेशन की जरूरत भी नहीं पड़ती है.

गूगल सर्च कंसोल उपयोग करने से क्या फायदा होगा? (benefit of google webmaster or google search console)

गूगल वेबमास्टर या गूगल सर्च कंसोल हर किसी के लिए फायदेमंद नहीं हैं. ये उन लोगों के काम आता है जिनकी खुद की वेबसाइट है या ब्लॉग है. क्योंकि उन्हें हर दम ये चिंता लगी रहती है की उनकी वेबसाइट पर ट्रैफिक कैसे आए. अगर आ रहा है तो वो किस तरीके से आ रहा है और उनकी वेबसाइट गूगल में किन दिक़्क़तों का सामना कर रही है.

– गूगल वेबमास्टर के जरिये आप आपकी वेबसाइट की इंडेक्सिंग को चेक कर सकते हैं.

– गूगल वेबमास्टर के जरिये आपको ये जानने को मिलता है की लोग आपकी वेबसाइट पर क्या कीवर्ड सर्च करके आ रहे हैं जिसके बाद आपको ये आइडिया लगता है की लोग क्या सर्च करते हैं और फिर आपको आगे कंटैंट बनाने में मदद मिलती है.

HTTP Cookies : Internet Cookies क्या होती है, कुकीज़ के फायदे और नुकसान?

– इसके जरिये आप अपनी पोस्ट को crawl करवाते हैं. गूगल की crawling में किसी post का आना भी बेहद जरूरी है. अगर वो crawling में नहीं आ रही है तो वो ज्यादा लोगों को नहीं दिख रहीं है.

– इसके जरिये आप preferred domain सेट कर सकते हैं.

– इसके जरिये आप sitemap को submit कर सकते हैं.

गूगल वेबमास्टर डैशबोर्ड (Google webmaster dashboard)

गूगल वेबमास्टर पर जब आपकी वेबसाइट वेरिफ़ाई हो जाती है तो आपको गूगल वेबमास्टर डैशबोर्ड मिलता है. इस डैशबोर्ड में कई सारे ऑप्शन होते हैं. जैसे आपको कौन से कीवर्ड से सर्च किया जा रहा है. उस कीवर्ड पर कितने लोग आ रहे हैं. क्या वेबसाइट का कोई URL दिक्कत दे रहा है या खुल नहीं रहा. इसकी जानकारी आपको इसके डैशबोर्ड मे ही मिल जाती है.

Free Web Hosting में होती है ये समस्याएं, Website को होता है नुकसान

इसके अलावा इसके डैशबोर्ड के जरिये आप अपनी वेबसाइट के साइटमेप को सबमिट कर सकते हैं और इंडेक्सिंग कर सकते हैं जिसके जरिये आपकी वैबसाइट की पोस्ट को crawl होने में मदद मिलेगी. वेबसाइट का हर content गूगल पर crawl होना चाहिए तभी आपकी वेबसाइट को अच्छा ट्रेफिक मिल पाएगा.

Domain Suggestion Tool : Best Domain चुनने के लिए 5 Best Website

गूगल वेबमास्टर एक बहुत ही अच्छा टूल है. खासकर उन लोगों के लिए जिनकी वेबसाइट है या फिर ब्लॉग है. उन लोगों के लिए अपनी वेबसाइट की performance पर नजर रखने के लिए ये काफी अच्छा टूल है. इसके साथ ही आपकी वेबसाइट के URL कैसे है इस बात के लिए भी ये टूल काफी अच्छा है. तो अगर आपकी खुद की वेबसाइट है या ब्लॉग है तो आप उसे google webmaster से जरूर add करें.

Whois Domain Owner : डोमैन किसके नाम पर है कैसे पता करें?

error: Content is protected !!