CC और BCC क्या होते हैं, Email में इनका क्या उपयोग है?

Email भेजने के लिए हम सभी Gmail का उपयोग करते हैं. Internet पर मेल भेजने के लिए और भी कई प्लेटफॉर्म हैं लेकिन जीमेल का प्रयोग सबसे ज्यादा किया जाता है. आपने ईमेल को भेजते वक़्त उसमें CC और BCC का Option देखा होगा. इसे देखकर आपको भी लगा होगा की भला ईमेल में इनका क्या उपयोग है. CC और BCC क्या है? CC और BCC को कैसे उपयोग करें? ये सभी जानकारी आपको इस लेख में मिलेगी.

CC और BCC क्या है?

Email में CC और BCC के अपने काम होते हैं जिनकी ईमेल में कई व्यक्तियों को जरूरत होती है.

CC का full form होता है Carbon Copy.

BCC का Full Form होता है Blind Carbon Copy

ईमेल में CC का क्या उपयोग है?

Email में CC काफी महत्वपूर्ण ऑप्शन है. इसकी मदद से आप एक साथ कई व्यक्तियों को ईमेल भेज सकते हैं. कई बार एक ही संस्थान में काफी सारे लोग एक ही चीज पर काम करते हैं. ऐसे में उन्हें एक नेटवर्क बनाने की और एक दूसरे को जानने की जरूरत होती है. संस्थान की ओर से एक ईमेल इन सभी लोगों को किया जाता है. जब एक ही ईमेल कई लोगों को किया जाता है और उसमें सभी ये देख सके की उनके अलावा किस व्यक्ति को ईमेल किया गया है तो उसे CC में रखा जाता है.

अगर आप 10 व्यक्तियों को एक ही Email भेज रहे हैं और उन 10 व्यक्तियों को आपको ये दिखाना है की ये ईमेल और किस-किस को गया है तो आपको वो सारे Email ID CC में लिखना होंगे तब जाकर जिन तक ये ईमेल पहुंचेगा उन सभी को इस बात की जानकारी रहेगी की ये ईमेल किन-किन को भेजा गया है.

ईमेल में BCC का क्या उपयोग है?

BCC भी सीसी की तरह ही है लेकिन इन दोनों में थोड़ा सा अंतर है. इसमें अगर आप कई सारे लोग एक ही टॉपिक या सब्जेक्ट पर काम कर रहे हैं और आपके लीडर आप सभी को एक ही मेल भेजते हैं लेकिन वो ये बताना नहीं चाहते की उन्होने आपके अलावा और किस-किस को ये मेल भेजा है तो आप उसे BCC में लिखे.

इसे हम यूं समझ सकते हैं की हमें एक ही ईमेल कुछ व्यक्तियों को भेजना है और उन्हें ये नहीं बताना है की उनके अलावा किस-किस व्यक्ति को ईमेल भेजा गया है तो हमें उन सभी के ईमेल आईडी को BCC में लिखना चाहिए. इस तरह हम उन सभी व्यक्तियों से ये छुपा सकते हैं की हमने उनके अलावा और किसे वही ईमेल भेजा है.

ईमेल भेजना एक आसान काम है लेकिन कई बार जब आप एक ही Email को कई व्यक्तियों को भेजते हैं और उन सभी के ईमेल आईडी उस व्यक्ति को शो हो जाते हैं तो ये अच्छा नहीं होता. इससे उनके ईमेल आईडी गलत व्यक्ति के पास भी जा सकते हैं और वो उसका गलत इस्तेमाल कर सकता है.

इसलिए आप जब जरूरत हो तो सीसी का इस्तेमाल करें. आप BCC का इस्तेमाल भी सोच-समझकर करें क्योंकि कई बार हमें अपने साथ काम करने वालों को इस बात की जानकारी देनी होती है की वो कितने और लोगों के साथ काम कर रहे हैं.

E-Mail पढ़ कर कमा सकते है 15,000 रूपए महीना

Google Play Store पर Apps कैसे Publish करें कितनी होती है कमाई ?

Tumblr क्या है Tumblr पर Free Blog कैसे बनाएँ?

Online Work 10 से 20 हजार रुपये महीना कैसे कमाएं

Indiabulls Dhani App से Loan लेने का तरीका जरूरी दस्तावेज़ और नियम?

Google ki 10 Service Se Kare Apne Kaam Ko our Aasan

error: Content is protected !!