Wireless Charging क्या है वायरलेस चार्जिंग के फायदे और नुकसान

आज के दौर में तेजी से Technology बदल रही है. बात अगर स्मार्टफोन की करें तो हर दिनं किसी नई Technology से लैस स्मार्टफोन लॉंच हो जाता है. अगर हम पहले और अब के स्मार्टफोन देखें तो हमें जमीन-आसमान का अंतर दिखाई देगा.

स्मार्टफोन में पहले के मुक़ाबले कई चीजें बदल चुकी है जैसे स्मार्टफोन चार्ज करने का तरीका. पहले के स्मार्टफोन वही पुराने केबल वाले चार्जर से चार्ज हुए करते थे लेकिन अब वायरलेस चार्जिंग का जमाना है. कई लोग वायरलेस चार्जिंग के बारे में काफी कुछ नहीं जानते हैं.

वायरलेस चार्जिंग What is wireless phone charging?

Wireless Charging Mobile को चार्ज करने की एक तकनीक है जिसमें आपको मोबाइल को किसी केबल से कनैक्ट नहीं करना पड़ता है. इसमें बस आपको चार्ज करने के लिए एक स्टैंड दिया जाता है उस पर आपको अपना मोबाइल रखना होता है और आपका Mobile Charge होने लगता है.

वायरलेस चार्जिंग में आपको किसी भी केबल के अपने मोबाइल से कनैक्ट नहीं करना पड़ता है. बस आपको सही जगह पर अपने Mobile को रखना है और आपका मोबाइल चार्ज होने लग जाएगा. लेकिन एक बात का और ध्यान रखें की भले ही आपको अपने मोबाइल को चार्जर से Connect करने के लिए केबल नहीं चाहिए लेकिन चार्जर को electricity देने के लिए आपको Cable का सहारा लेना ही पड़ेगा.

वायरलेस चार्जर कैसे उपयोग करें?

वायरलेस चार्जर का काम काफी आसान है और इसे उपयोग करना भी. इसे उपयोग करने के लिए आपको सबसे पहले तो वायरलेस चार्जर को दिये गए adopter की मदद से electricity के साथ plug करना होगा. इसके बाद इसमें आपको जो चार्जर दिया होता है उस पर अपना फोन रखना होता है वो भी सही जगह सही तरीके से. इसके बाद आपका फोन चार्ज होने लग जाता है.

वायरलेस चार्जर कैसे काम करता है?

वायरलेस चार्जर Electromagnetic field बनाता है. इसकी मदद से ही बिना किसी वायर के स्मार्टफोन तक electricity पाहुचती है. दरअसल चार्जर में एक तरह को coil लगी होती है जो Electromagnetic field बनती है वहीं स्मार्टफोन में भी coil लगी होती है जो Electromagnetic field बनाती है. ये दोनों आपस में मिलकर electromagnetic फील्ड बनाते हैं और current का आदान प्रदान करते हैं जिससे आपका स्मार्टफोन चार्ज होने लगता है.

वायरलेस चार्जिंग हमे लगता है की एक नई तकनीक है लेकिन ये काफी पहले से उपयोग की जा रही है. हालांकि स्मार्टफोन में इसका उपयोग अभी-अभी होने लगा है. पहले आपने इसे पैनासोनिक के इलेक्ट्रिक रेजर में देखा भी होगा. इसके अलावा भी कई सारी डिवाइस में वायरलेस चार्जिंग का इस्तेमाल किया जाता रहा है.

कौन सा चार्जर बेस्ट है?

बात अगर वायरलेस और वायर वाले चार्जर में से किसी एक Best Charger की करें तो बेस्ट चार्जर तो हमारा केबल वाला चार्जर ही है. हालांकि दोनों के फायदे अपनी-अपनी जगह पर ठीक है.

वायरलेस चार्जर में आपको सिर्फ किसी केबल को प्लग और Unplug करने की झंझट से मुक्ति मिलती है. लेकिन इससे आपको केबल चार्जर मे बराबर फास्ट चार्जिंग नहीं मिल पाती है.

केबल चार्जर आजकल काफी ज्यादा फास्ट चार्जिंग के साथ आने लगे हैं जो लगभग 1-2 घंटे में मोबाइल को पूरा चार्ज कर देते हैं. इसलिए बेस्ट चार्जर हम वायर वाले चार्जर यानि हमारे पुराने चार्जर को कह सकते हैं.

वायरलेस चार्जर के फायदे और नुकसान

– वायरलेस चार्जर में आपको Plug और Unplug नहीं करना पड़ता. बस आपको चार्ज करने के लिए उसके स्टैंड पर रखना है और आपका मोबाइल चार्ज होने लगेगा.

– वायरलेस चार्जर वाले फोन काफी महंगे होते हैं इसलिए लो बजट फोन में वायरलेस चार्जिंग का इस्तेमाल अभी नहीं होता है. हालांकि कंपनियाँ इसे लेकर काम कर रही हैं.

– वायरलेस चार्जर से हर मोबाइल चार्ज नहीं हो पाता. इसकी मदद से आप सिर्फ उसी फोन को चार्ज कर सकते हैं जो वायरलेस चार्जिंग को सपोर्ट करता है.

– वायरलेस चार्जर अन्य चार्जर के मुक़ाबले थोड़ा धीमा चार्ज करता है वहीं वायर वाले चार्जर आपके फोन को 1-2 घंटे में चार्ज कर सकते हैं.

– वायरलेस चार्जिंग में बिजली का झटका या करंट लगने जैसे संभावना नहीं रहती है जबकि केबल चार्जर में रहती है.

वायरलेस चार्जिंग का देखा जाए तो सिर्फ एक ही फायदा है की आपको इसे plug या unplug नहीं करना पड़ता है. इसके अलावा इससे आपको कोई फायदा नहीं है. हालांकि निर्माता कंपनी अभी इस कोशिश में लगी है की इसे सभी फोन में लाया जाए लेकिन हमारी जरूरत वायरलेस चार्जिंग नहीं बल्कि fast charging है.

आमतौर पर हम सभी को अपने मोबाइल जल्द से जल्द चार्ज करने की जरूरत होती है. घंटों तक मोबाइल चार्ज पर लगा कर रखना और उससे भी कम समय में Mobile Discharge हो जाना इस समस्या से हम सभी जूझ रहे हैं. इस समस्या का समाधान अगर आ गया तो सभी इसे अपना सकते हैं.

हालांकि कई Companies Fast Charging के लिए अपने चार्जर में बदलाव कर चुकी है. शायद यही कारण है की वायरलेस चार्जिंग अभी इतना सफल नहीं हो पाया है.

USB Debugging Mode क्या है, इसका इस्तेमाल कैसे करें?

Laptop,Mobile Battery Backup से है परेशान, इन 5 बातों का रखें ध्यान

लैपटाप/कंप्यूटर बंद होने पर भी Mobile चार्ज कर सकते जानिए आसान Tricks

Mobile Battery Charging Tips in Hindi

Smartphone को Hanging होने से बचाना है तो Follow करें ये 5 Step

HDMI Cable क्या है (एचडीएमआई) Cable के फायदे

error: Content is protected !!