AMP Page क्या है, AMP के फायदे (AMP) किसे उपयोग करना चाहिए?

इंटरनेट पर अधिकतर सुविधाएँ Google के अधीन हैं. अगर आप इंटरनेट पर पैसे कमा रहे है तो वो गूगल पर, वेबसाइट चला रहे हैं तो गूगल पर, आपकी वेबसाइट पर ट्रैफिक आ रहा है तो उसका कारण है गूगल. वैसे तो गूगल ने वेबसाइट चलाने वालों को कई सुविधा दी है और उन्हीं सुविधाओं में एक सुविधा का नाम है ‘AMP’.

इंटरनेट पर दो तरह के लोग है. एक तो वे जो इंटरनेट पर जानकारी अपलोड कर रहे हैं और दूसरे वो जो इस जानकारी को सर्च करके पढ़ रहे हैं या उसका लाभ उठा रहे हैं. तो ये जो दूसरी केटेगरी के लोग हैं वो भी दो तरह के हैं. एक तो वो हैं जो जानकारी को अपने कम्प्युटर या फिर लैपटॉप पर पढ़ते हैं और दूसरे वो हैं जो इन जानकारी को अपने मोबाइल या फिर टेबलेट पर पढ़ते हैं.

जो लोग अपने मोबाइल या टेबलेट पर किसी जानकारी को पढ़ते हैं या फिर सर्च करते हैं उन्होने अक्सर सर्चिंग में आने वाले रिज़ल्ट के नीचे देखा होगा की उनमें एक लाइट (फ्लैश) (⚡) का साइन होता है. कई लोग सोचते हैं की आखिर ये साइन आता क्यों है.

दरअसल ये साइन AMP का होता है. इसका पूरा नाम होता है Accelerated Mobile Page. ये गूगल की ही एक ऐसी सुविधा है जिसके जरिये किसी भी वेबसाइट का पेज बहुत ही जल्दी खुल जाता है. दुनिया में अधिकतर लोग मोबाइल पर ही इंटरनेट का इस्तेमाल करते हैं इसलिए किसी भी वेबसाइट का मोबाइल पर जल्दी खुलना जरूरी है जिसके लिए AMP काफी मदद करता है.

AMP क्या है? (what is AMP format?)

AMP एक open source framework होता है. इस framework की वजह से आप किसी भी वेबसाइट को mobile freindly page में बदल सकते हैं. अगर आप किसी भी वेबसाइट के पेज को mobile page में बदल देते हैं तो उस पेज के लिए डाटा कम लगता है और वो पेज काफी जल्दी खुल जाता है जिस वजह से उस वेबसाइट पर काफी अच्छा ट्रैफिक रहता है.

AMP एक तरह की application है. इसे खासतौर पर मोबाइल यूजर के लिए बनाया गया है. AMP का computer user से कोई लेना देना नहीं है. उन्हें सर्चिंग के दौरान ये साइन नजर भी नहीं आता है. कई बार आपने भी देखा होगा की आप किसी वेबसाइट को खोलते हैं तो वो खुलने में काफी ज्यादा समय लेती है ऐसे में आप irritate हो जाते हैं और उस पेज को छोड़ कर चले जाते है. इसी समस्या को दूर करने में AMP मदद करता है. ये कम internet speed में भी आपको काफी अच्छे रिज़ल्ट देता है.

Google AMP कैसे काम करता है? (What is AMP Google results?)

Google AMP Bare-bone version है. ये प्राथमिकता पर काम करता है. मतलब जब भी आप किसी वेबसाइट के किसी पेज को open करते हैं तो वो पहले उन्हीं चीजों को दिखाता है जिनकी आपको जरूरत होती है जैसे टाइटल, कंटैंट इसके बाद फोटो. इस कारण से आपके मोबाइल पर पेज जल्दी खुल जाता है. इसके अलावा यदि आप कम्प्युटर में किसी वेबसाइट का पेज खोलते हैं या फिर कोई बिना AMP वाला पेज खोलते हैं तो पेज को खुलने में काफी समय लगता है क्योंकि इस पेज में मुख्य जानकारी के साथ और भी कई सारी चीजें लोड होती है जिन्हें दिखने में वेबसाइट समय लेती है.

अपनी वेबसाइट में AMP कैसे लगाएँ? (How to setup amp in website?)

अपनी वेबसाइट को AMP में बदलने के लिए आपको अपनी वेबसाइट में कुछ सेटिंग करनी होती है. अगर आप अपनी वेबसाइट में AMP चाहते हैं तो आपको आपकी WordPress वेबसाइट के डैशबोर्ड में जाकर AMP on Google इन्स्टाल करना है और उसे एक्टिवेट करना है.

AMP Plugin activate करने के बाद आपको कुछ basic setting करनी होती है. इसमें आपको ये तय करना होता है की AMP करने के बाद आप अपनी वेबसाइट या वेबपेज का लुक बदलना चाहते हैं या नही, वेबसाइट के URL में AMP दिखाना चाहते हैं या नहीं. इसकी तीन सेटिंग हैं जिन्हें आप अपने हिसाब से चुन सकते हैं.

AMP के फायदे (benefit of google amp)

– किसी भी वेबसाइट को AMP करने का सबसे बड़ा फायदा तो ये है की उस वेबसाइट का लोड होने का टाइम बहुत ही कम हो जाता है जिसकी वजह से यूज़र आपकी बताई गई जानकारी को अच्छे से पड़ पाता है और आपके पेज को आसानी से खोल सकता है.

– अगर आपकी वेबसाइट पर AMP लगा है तो इससे आपकी server पर परफॉर्मेंस बढ़ जाती है साथ ही मोबाइल के जरिये आने वाला ट्रैफिक पहले के मुक़ाबले काफी ज्यादा बढ़ जाता है.

– AMP के कारण वेबसाइट की performance काफी ज्यादा बढ़ जाती है. इससे यूजर का डाटा भी कम लगता है क्योंकि ये उन चीजों को नहीं दिखाता जिससे ज्यादा डाटा खर्च होता है इसी वजह से इसका लोडिंग टाइम काफी कम होता है.

AMP के नुकसान (Disadvantage of AMP pages?)

AMP उपयोग करने के कुछ फायदे है तो कुछ नुकसान भी है. इसका सबसे बड़ा नुकसान ये है की जब आप या कोई भी व्यक्ति जिसकी वेबसाइट है वो इसे वेबसाइट में इस्तेमाल करता है तो वेबसाइट पर cache file बढ़ जाती है. ये आपकी वेबसाइट पर निगेटिव इफैक्ट डालती है.

इसकी वजह से आपका Google analytics भी प्रभावित होता है. इसके यूजर्स आपके ट्रैफिक को बढ़ाते तो है लेकिन ये थोड़ा गलत प्रभाव डालते हैं क्योंकि इसके कारण पेज थोड़ा अलग तरीके से लोड होता है.

किसी भी वेबसाइट के लिए कमाई का जरिया उस पर दिखाये जा रहे विज्ञापन होते हैं. जब आप AMP का उपयोग करते हैं तो आपके Revenue पर बहुत ज्यादा फर्क पढ़ता है क्योंकि AMP के पेज पर विज्ञापन बहुत कम या ना के बराबर होते हैं.

AMP का उपयोग किसे करना चाहिए? (Who can use AMP pages for website?)

आप ये तो जान गए होंगे की AMP को उपयोग करने पर कुछ फायदे हैं तो कुछ नुकसान भी है. ऐसे में अब आपको तय करना है की आपको AMP उपयोग में लेना है या नहीं. वैसे कुछ टिप्स है जिनकी मदद से आप ये पता लगा सकते हैं की आप इसे उपयोग करें या न करे. ये टिप्स उन लोगों के लिए हैं जिन्हें AMP का इस्तेमाल करना चाहिए!

अगर आपने अपनी वेबसाइट अभी-अभी शुरू की है तो आपको इसका इस्तेमाल करना चाहिए क्योंकि शुरुवात में revenue से ज्यादा traffic और वेबसाइट की branding जरूरी होती है. इसलिए शुरू में आप अपनी वेबसाइट का नाम लोगों तक पहुचाने के लिए और ट्रैफिक बढ़ाने के लिए amp का प्रयोग कर सकते हैं.

अगर आपकी वेबसाइट का मोबाइल वर्जन बहुत ही हल्का है और कम समय में लोड हो जाता है तो ये जरूरी नहीं की आप इसका इस्तेमाल करें क्योंकि इसका इस्तेमाल सिर्फ वेबसाइट को हल्का करने के लिए किया जाता है. आप चाहे तो मोबाइल वर्जन पर अपनी वेबसाइट को खुद बदल सकते हैं.

अगर आपकी वेबसाइट कोई e-commerce वेबसाइट हैं तो आपको इसका इस्तेमाल नहीं करना चाहिए. ये e-commerce वेबसाइट के लिए अच्छा नहीं माना जाता है.

अगर आपकी वेबसाइट पर ट्रैफिक खूब सारा है तो amp के बारे में ना सोचे क्योंकि इससे सीधा आपका revenue प्रभावित होगा. AMP की जगह आप अपने मोबाइल वर्जन वेबसाइट को हल्का करने की कोशिश करें ताकि यूजर बिना AMP पर जाए आपकी वेबसाइट जल्दी से खोल पाये.

AMP पेज पर Adsense Ads कैसे लगाए जाते है

जीमेल को AMP का सपोर्ट मिलने से यूजर्स को होंगे कई फायदे

गूगल वेबमास्टर क्या है, Google Webmaster पर वेबसाइट और Blog को कैसे जोड़ें?

PHP क्या है PHP वेबसाइट कैसे बनाई जाती है

WordPress में Multiple Plugin कैसे Install करते हैं?

error: Content is protected !!