HDFC बैंक ने बड़ाई Fixed Deposite पर ब्याज की दरे

बाजार मूल्य के लिहाज से देश के सबसे बड़े बैंक HDFC बैंक में फिक्स डिपॉजिट (FD) कराने पर अब पहले के मुकाबले ज्यादा ब्याज मिलेगा, बैंक ने टर्म डिपॉजिट पर ब्याज दरों में 100 बेसिस प्वाइंट (1 प्रतिशत) की बढ़ोतरी की है। बैंक ने सामान्य नागरिको के साथ वरिष्ठ नागरिकों के लिए डिपॉजिट दरों में बढ़ोतरी की घोषणा की है। प्राइवेट सेक्टर के सबसे बड़े बैंक एचडीएफसी बैंक ने टर्म डिपॉजिट (मियादी जमा) दरों में 100 बेसिस प्वाइंट (1 फीसद) का इजाफा कर दिया है। टर्म डिपॉजिट को फिक्स्ड डिपॉजिट (एफडी) भी कहा जाता है। एचडीएफसी बैंक ने 1 करोड़ रुपए से कम वाली फिक्स्ड डिपॉजिट की ब्याज दरों में इजाफा किया है। यानी अब एचडीएफसी बैंक में फिक्स्ड डिपॉजिट कराने वाले ग्राहकों को पहले से ज्यादा ब्याज मिलेगा।

ये होंगी दरे Fixed Deposite पर

अब एचडीएफसी बैंक के ग्राहकों को 1 वर्ष के लिए जमा रकम पर 7 फीसद और वरिष्ठ नागरिकों को 7.5 फीसद का ब्याज मिलेगा। जबकि 1 करोड़ रुपए से ऊपर की रकम जमा करनेवाले सामान्य ग्राहकों को 7.25 फीसद और वरिष्ठ नागरिकों को 7.75 फीसद का ब्याज मिलेगा।

फरवरी में भी बढाई थी टर्म Deposite की दरे

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने फरवरी महीने में रिटेल टर्म डिपॉजिट (फिक्स्ड डिपॉजिट) की दरों को बढ़ा दिया था। बैंक ने कुल 9 अवधियों के लिए कराये जाने वाले फिक्स्ड डिपॉजिट में 0.10 से 0.50 बेसिस प्वाइंट की बढ़ोतरी की थी। एसबीआई ने ये दरें 1 करोड़ से कम की जमा पर बढ़ाई थीं।

क्या होते हैं टर्म डिपॉजिट?

टर्म डिपॉजिट एक दम फिक्स्ड डिपॉजिट जैसे ही होते हैं। अंतर सिर्फ इतना होता है कि 3 महीने या उससे कम समय की अवधि के लिए जमा की गई राशि को टर्म डिपॉजिट और 6 महीने या उससे अधिक समय के लिए निवेश की गई राशि को फिक्स्ड डिपॉजिट यानी एफडी बोलते हैं। टर्म डिपॉजिट दरअसल उन निवेशकों के लिए होता है जो अपनी पूंजी पर बिना रिस्क लिए कम समय में अच्छा रिटर्न पाना चाहते हैं। टर्म डिपॉजिट कुछ दिनों से लेकर कुछ महीनों तक का हो सकता है।

hdfc fixed home loan interest rate

ये हैं RBI के आंकड़े

रिजर्व बैंक की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक, 30 मार्च 2018 को बैंकों में कुल 115 लाख करोड़ रुपए जमा थे. जमा रकम में वृद्धि के लिहाज से यह महज 6.7 प्रतिशत रहा जबकि पिछले वित्त वर्ष यह आंकड़ा 15.3 प्रतिशत पर था. इस दौरान बैंकों ने 10.3 प्रतिशत की वृद्धि के साथ कुल 87 लाख करोड़ रुपए का कर्ज दिया. ध्यान रहे कि पिछले वित्त वर्ष में कर्ज देने का वृद्धि प्रतिशत 8.2 था.

SBI ने भी बढ़ाई थी दरें

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने फरवरी में रिटेल टर्म डिपॉजिट (फिक्स्ड डिपॉजिट) पर ब्याज दरें बढ़ाई थीं. बैंक ने कुल 9 अवधियों के लिए कराए जाने वाले फिक्स्ड डिपॉजिट में 0.10 से 0.50 बेसिस प्वाइंट की बढ़ोतरी की थी. एसबीआई ने ये दरें 1 करोड़ से कम की जमा पर बढ़ाई थीं.