UPSC की तैयारी कैसे करें, IAS कैसे बनते हैं?

हर पढ़ने वाला व्यक्ति अपनी जिंदगी में एक बार ये जरूर सोचता है की वो UPSC की तैयार करे (How to prepare for UPSC exam) और IAS बने (How to be an IAS?). कहने में जितना सरल लगता है एक IAS बनना उससे कई गुना मुश्किल है. UPSC exam देशभर में आयोजित होने वाली प्रतियोगी परीक्षाओं में सबसे कठिन परीक्षा मानी जाती है और जो व्यक्ति इसे पास कर जाता है वो देश में उच्च अधिकारी बनता है और लोग उसका मान-सम्मान करते हैं. IAS कैसे बनें और UPSC exam क्या होता है और कैसे इसकी तैयार की जाए ये सारी जानकारी आप इस लेख में पढ़ेंगे.

UPSC क्या है? (What is UPSC?)

UPSC का full form है union public service commision यानि संघ लोक सेवा आयोग. ये एक तरह की संस्था है जो देश में उच्च पदों पर अधिकारियों की भर्ती करती है. UPSC कई exam आयोजित करता है उन्हीं में IAS एक है. इसके अलावा आप UPSC exam देकर IPS, IRS, IES आदि भी बन सकते हैं.

IAS क्या होता है? (What is IAS?)

IAS का पूरा नाम है Indian Administrative service यानि वो अधिकारी जो administrative service के अंतर्गत आते हैं जैसे जिला अधिकारी (Collector). आपको IAS बनना या फिर IPS, IRS आदि ये सारी जानकारी आपको UPSC Form भरते समय बताना होता है.

UPSC Exam pattern

UPSC exam तीन चरणों में होता है. 1) प्रारम्भिक परीक्षा (Preliminary exam) 2) मुख्य परीक्षा (Main exam) 3) साक्षात्कार (Interview). इन तीनों चरणों में पास होने वाला व्यक्ति ही UPSC exam creck कर पाता है और IAS बन पाता है.

UPSC Pre exam सिलैबस और पैटर्न (UPSC pre exam syllabus and exam pattern)

UPSC pre exam एक qualifying exam होता है जिसे वो सभी लोग देते हैं जिन्होने UPSC का form भरा है. UPSC pre exam में objective type question आते हैं. इस एक्जाम में दो पेपर होते हैं दोनों में ही objective type question होते हैं.

UPSC Pre exam का पहला पेपर सामान्य अध्ययन का होता है जिसमें कुल 100 प्रश्न होते हैं जो 2-2 अंकों के होते हैं. इस पेपर में निगेटिव मार्किंग भी होती है. इस पेपर में करंट अफेयर्स सामान्य विज्ञान, भारत का इतिहास, पर्यावरण-जलवायु परिवर्तन, जैव विविधता, पर्यावरण पारिस्थिकी, भारतीय राजनीति और शासन-संविधान, राजनीतिक प्रणाली, पंचायती राज आदि, विश्व और भारतीय भूगोल- अधिकारों के मुद्दें, भारत और दुनिया के आर्थिक व भौतिक भूगोल, सामाजिक विकास और आर्थिक- सामाजिक क्षेत्र की पहल, सतत विकास, समावेश, जनसांख्यिकी और गरीबी जैसे विषयों से संबन्धित प्रश्न पूछे जाते हैं.

UPSC Pre exam का दूसरा पेपर होता है CSAT का जिसमें 2.5 अंकों के 80 प्रश्न होते हैं. इस पेपर में समस्या को हल करना और निर्णय लेना, सामान्य मानसिक योग्यता, समझ, डेटा व्याख्या, विश्लेषणात्मक क्षमता और तार्किक तर्क, संचार कौशल सहित पारस्परिक कौशल से संबन्धित प्रश्न पूछे जाते हैं. ये प्रश्न मुख्यतः गणित और तर्क शक्ति से संबन्धित होते है.

ये दोनों पेपर qualifying होते हैं इसलिए इनमें जितना cutoff जाता है आप उतने मार्क्स ले आए तो आप अगली एक्जाम यानि की UPSC mains exam के लिए सिलैक्ट हो जाते हैं.

UPSC मेंस एक्जाम पैटर्न (UPSC mains exam pattern)

UPSC Pre exam में आपने objective type के प्रश्न किए लेकिन mains में आपको पूछे गए प्रश्नों के जवाब लिखना होते हैं इसके लिए आपकी उस subject पर अच्छी पकड़ होनी चाहिए. इसके साथ ही आपकी लेखन शैली बहुत ही अच्छी होना चाहिए. जिस भी टॉपिक पर आपसे प्रश्न पूछा जा रहा है आपको उसकी अच्छी समझ होना चाहिए साथ ही आपके पास उस टॉपिक को लेकर उदाहरण और अच्छी समझ होना चाहिए. UPSC mains exam में कुल 7 पेपर होते हैं. इन 7 पेपर की कुल मार्क्स 1750 होते हैं.

पेपर 1 – निबंध
पेपर 2 -सामान्य अध्ययन 1 (संस्कृति और भारतीय विरासत, विश्व का इतिहास और भूगोल)
पेपर 3- सामान्य अध्ययन 2 (संविधान, प्रशासन, राजनीति, सामाजिक न्याय तथा अंतराष्ट्रीय संबंध)
पेपर 4- सामान्य अध्ययन 3 (आर्थिक विकास, जैव विविधता, पर्यावरण, प्रोद्योगिकी, आपदा प्रबंधन)
पेपर 5- सामान्य अध्ययन 4(अभिवृत्ति, सत्यनिष्ठा)
पेपर 6- वैकल्पिक विषय – पेपर 1
पेपर 6- वैकल्पिक विषय- पेपर 2

UPSC साक्षात्कार (UPSC Interview)

जिन ऊमीद्वार का UPSC Mains clear हो जाता है उन ऊमीद्वारों को UPSC interview के लिए बुलाया जाता है. Interview 275 मार्क्स का होता है. इंटरव्यू में आपसे कई तरह के सवाल किए जाते हैं जो आपके जीवन पर आधारित या आपकी पढ़ाई पर आधारित या फिर आप जो नौकरी UPSC के लिए करने वाले हैं उस पर आधारित हो सकते हैं.

UPSC का selection upsc mains और interview के मार्क्स जुड़कर तय होता है. Mains और interview के कुल मार्क्स 2025 होते हैं. इसमें से जितने भी % का cutoff जाता है उतने मार्क्स अगर किसी ऊमीद्वार के आते हैं तो वो UPSC exam क्लियर कर जाता है और उसकी नौकरी लग जाती है. हालांकि जिन ऊमीद्वार के अच्छे मार्क्स आते हैं वो अपने हिसाब से कौन सी नौकरी कहाँ करनी है ये तय कर सकते हैं.

यूपीएससी आईएएस बनने के लिए शैक्षणिक योग्यता (Educational qualification for UPSC IAS exam)

अगर कोई ऊमीद्वार UPSC का एक्जाम IAS बनने के लिए देना चाहता है तो उसे किसी मान्यता प्राप्त University से स्नातक (Greduation) करना जरूरी है. अन्य विभाग जैसे IES के लिए engineering की मांग की जाती है लेकिन IAS के लिए आप किसी भी विषय में स्नातक करके अप्लाई कर सकते हैं.

यूपीएससी के लिए आयु सीमा (Age limit for UPSC exam)

-यूपीएससी एग्जाम देने के लिए आपकी उम्र कम से कम 21 साल होना चाहिए.
-अगर जनरल कैटेगरी में आते हैं तो आपके लिए आयु सीमा 32 साल तक है और तब तक आप 6 अटेंप्ट दे सकते हैं.
-ओबीसी के लिए आयुसीमा 35 साल है और अटेंप्ट 9 हैं.
-एससी और एसटी के लिए आयुसीमा 37 साल रखी गई है. ये अपनी आयुसीमा के पूरी होने तक परीक्षा दे सकते हैं.

यूपीएससी एक्जाम की तैयारी आप घर बैठ कर भी कर सकते हैं. आजकल कई ऑनलाइन प्लेटफॉर्म हैं जहां पर आप कम फीस में अच्छी तैयारी कर सकते हैं. लेकिन UPSC की तैयार करने से पहले इसे UPSC creack करने वालों से जरूर मिलें और उनसे मार्गदर्शन लें वे आपको UPSC की तैयारी करने के लिए सही मार्गदर्शन दे सकते हैं.

Education Loan कैसे मिलता है, एजुकेशन लोन पर कितना ब्याज लगता है?

Right to Education 2019-20 आवेदन कैसे करें, RTE पात्रता क्या है ?

Digital Signature क्या होता है, डिजिटल सिग्नेचर का इस्तेमाल कहां होता है?

English सीखने के Best Mobile Apps

जानिए ज्यादा पैसा कमाने के तरीके और सीक्रेट

error: Content is protected !!