Income Tax Return Form की जानकारी, इनकम टैक्स भरने के फायदे

हर साल देश में कई लोग Income Tax भरते हैं और कई लोग पहली बार भरते हैं यानि की वो नए करदाता बनते हैं. इन्कम टैक्स भरना कोई मुश्किल काम नहीं है बस आपको इन्कम टैक्स के बारे में पूरी नॉलेज होनी चाहिए. इन्कम टैक्स कैसे फ़ाइल करना है इसके साथ आपको ये भी पता होना चाहिए की Income Tax भरने के लिए कितने तरह के Income Tax फॉर्म का उपयोग होता है और उन फॉर्म का क्या-क्या उपयोग है. आपके लिए कौन सा इन्कम टैक्स फॉर्म सही है इस बात की जानकारी भी आपको होनी चाहिए.

इन्कम टैक्स क्या है? What Is Income Tax? 

सबसे पहली बात तो ये होती है की इन्कम टैक्स होता क्या है? Income Tax एक तरह का टैक्स है जो आपके द्वारा कमाए गए पैसों पर सरकार द्वारा लिया जाता है. ऐसा नहीं है की सरकार सभी लोगों से इन्कम टैक्स लेती है. इन्कम टैक्स के अलग-अलग स्लैब हैं जिनके अनुसार अलग-अलग रेट का इंकम टैक्स लिया जाता है. अगर आप हर महीने वेतन पाने वाले व्यक्ति हैं और इन्कम टैक्स के दायरे में आते हैं तो हर महीने आपकी सैलरी से आपकी कंपनी TDS के रूप में टैक्स काट लेती है. साल के आखिर में आपको Income Tax Return File करना होता है जिससे अगर आपने ज्यादा टैक्स जमा किया है वो वापिस आपको मिल जाता है.

इन्कम टैक्स के फॉर्म Income tax forms

इन्कम टैक्स भरने में कुल 7 प्रकार के फॉर्म का प्रयोग होता है जो निम्न हैं :

ITR 1 Form

अगर आप भारत में individual हैं या फिर किसी HUF यानि हिन्दू अनडिवाइडेड फ़ैमिली से आते है और आपकी आय का स्त्रोत आपकी Salary, Pension, Property का किराया या फिर ब्याज है तो आपको ITR1 form भरना होता है. इस फॉर्म को सहज फॉर्म भी कहा जाता है.

ITR2 Form

अगर आप भारत में कोई व्यक्ति है या फिर HUF के अंतर्गत आते हैं और आपकी कमाई का स्त्रोत कृषि, एक से ज्यादा किराए पर Property, केपिटल गेन, लॉटरी, रेसिंग में जीते गए पैसों से होती है तो ऐसे लोगों के लिए ITR Form 2 होता है.

ITR 3 Form

ITR 3 Form ऐसे Business Partner के लिए होता है जिन्हें ब्याज, सैलरी, बोनस से इन्कम, केपिटल गेन, एक से ज्यादा प्रॉपर्टी का किराया आदि से इन्कम प्राप्त होती है तो इन्हें ITR 3 फॉर्म भरना चाहिए. सरल शब्दों में कहे तो ये ऐसे व्यक्ति होते हैं जो खुद का बिजनेस कर रहे हैं या फिर किसी प्रोफेशन से पैसे कमा रहे हैं उन्हें इस फॉर्म को भरना चाहिए.

ITR 4 Form

इस फॉर्म को वो व्यक्ति या फिर एचयूएफ़ के व्यक्ति भर सकते हैं जो किसी बिजनेस प्रोफेशन जैसे डॉक्टर या वकील आदि के जरिये कमाई कर रहे हैं उन्हें form 4 भरना चाहिए.

ITR 5 form

ये फॉर्म उन संस्थाओं के लिए होता है जिनहोने खुद को LLPs, AOPs, BOIs, LLPs, AOPs, BOIs के रूप मेन खुद को Registered करवा रखा हो.

ITR 6 form

ये form उन कंपनियों के लिए होता है जिन्हें सेक्शन 11 के तहत छूट नहीं मिलती.

ITR 7 form

ये फोरम उन कंपनियों के लिए होता है जो सेक्शन 139 (4A) या सेक्शन 139 (4B) या सेक्शन 139 (4D) के तहत रिटर्न दाखिल करते हैं.

इंकम टैक्स भरने के फायदे Benefits of Income Tax

इंकम टैक्स भरना हर देशवासी के लिए जरूरी है. ऐसा नहीं है की सरकार आपसे बस टैक्स ले रही है और आपको कोई फायदा नहीं दे रही है. आपके द्वारा जमा किया गया Income Tax Government आप पर ही खर्च करती है. आपके टैक्स को सरकार देश की तरक्की में लगती है जिससे देश तेज गति के साथ आगे बड़ सके और अन्य लोगों को भी रोजगार मिले. इंकम टैक्स भरने से आपको भी कई तरह के फायदे होते हैं जो निम्न हैं.

– अगर आप बिजनेस करते हैं तो आपके द्वारा जमा किए गए आईटीआर के माध्यम से आप किसी भी Department से कांट्रैक्ट हासिल कर सकते हैं. जानकारी के मुताबिक किसी भी सरकारी विभाग से कांट्रैक्ट लेने के लिए आपके पास कम से कम 5 साल का आईटीआर होना चाहिए. अगर आपके पास ये हैं तो डिपार्टमेन्ट आपको वो कांट्रैक्ट देने के बारे में जरूर सोचेगा.

– अगर आपने अपना पैसा शेयर बाजार में निवेश किया है और उस पर नुकसान हुआ है तो भी आपको इन्कम टैक्स के जरिये फायदा मिल सकता है. दरअसल जब आप शेयर बाजार में निवेश करते हैं और आपको नुकसान होता है तो इससे आपकी पूंजी घट जाती है. इसे हम कैपिटल लॉस कहते है. ITR File करते समय आप इसे बताए और आईटीआर में छूट पाएँ.

– अगर आप Business कर रहे हैं और कोई बड़ा लेन-देन चाह रहे हैं या फिर किसी म्यूचुअल फ़ंड या शेयर मार्केट में निवेश करने की सोच रहे हैं तो आपको ITR file की जरूरत होती है. अगर आपके पास आईटीआर हुआ तो आप यहां आसानी से निवेश कर पाएंगे.

– आज के जमाने में किसी भी बैंक से लोन लेना काफी मुश्किल काम है लेकिन अगर आप आईटीआर फ़ाइल करते हैं और आपका रिकॉर्ड अच्छा है तो बैंक आपको खुद ही लोन के लिए फोन करती है. बैंक आपको Credit Card भी ऑफर करती है. आपके द्वारा समय पर आईटीआर फ़ाइल करने के कारण आप किसी भी बैंक से आसानी से लोन पा सकते हैं.

– हम में से कई सारे लोग लॉन्ग टर्म के लिए Insurance में पैसा निवेश करते हैं. इसकी वजह है मुनाफा लेकिन हम सभी इतना ज्यादा Money investment नहीं करते. आप चाहे तो ज्यादा पैसा भी कर सकते हैं लेकिन इसके लिए आपके पास आईटीआर फ़ाइल होना चाहिए. आईटीआर फ़ाइल के माध्यम से आप यहाँ ज्यादा Profits वाली पॉलिसी को खरीदकर अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं.

– अगर आप वेतन वाले व्यक्ति हैं तो हर महीने आपकी सैलरी से Income tax काट लिया जाता है. लेकिन आप सालभर में कुछ और जगह पर अपना निवेश भी करते हैं जो Income tax की छूट के दायरे में आता है तो आप आईटीआर के माध्यम से उस छूट को वापस पा सकते हैं. इसके लिए आपको ITR फ़ाइल करते समय बताना होगा की आपने इंकम टैक्स छूट के तहत कहाँ Money investment किया है.

Income Tax भरना हर देशवासी के लिए जरूरी है और सरकार ने इसे लेकर कई नियम बनाए है. सरकार ने टैक्स भरने वालों को प्रोत्साहित करने के लिए कई तरह की छूट भी दी है इसलिए आप समय पर अपने टैक्स का भुगतान करें और छूट का लाभ उठाएँ.

लीगल तरीके से कैसे करें Income Tax Saving

इस App से चैक करे GST के बाद में कितना लगेगा Tax

Section 80C क्या है? सेक्शन 80 सी पर टैक्स छूट के लिए कहाँ Investment करें?

GST Return कैसे भरें, जीएसटी फॉर्म की जानकारी, GST Composition Scheme

TDS क्या है, टीडीएस में छूट के लिए कहाँ निवेश करें?

Share Market क्या होता है, BSE, NSE में पैसा कैसे लगाएँ?

error: Content is protected !!