Lottery System क्या है, भारत में लॉटरी मान्य है या नहीं?

लॉटरी का नाम तो आपने सुना ही होगा. आए दिन इन्टरनेट और अखबारों में आता रहता है की किसी व्यक्ति ने लाखों-करोड़ों रुपये की लॉटरी जीती. ये सब पढ़कर आपके दिमाग में भी आता होगा की ये लॉटरी होती क्या है? भारत में Lottery लीगल है या नहीं? क्या हम भी लॉटरी के माध्यम से लाखों-करोड़ों रुपये जीत सकते हैं? लॉटरी कैसे खरीदें? लॉटरी कैसे जीते?

लॉटरी क्या है? What is the Lottery?

लॉटरी एक तरह की स्कीम या योजना है जिसमें कई लोग अलग-अलग टिकट को खरीदते हैं और फिर इन्हें इनाम जीतने का मौका दिया जाता है. ये खेल पूरी तरह आपके भाग्य पर निर्भर है. भारत में इसके लिए लॉटरी रेग्युलेशन एक्ट 1998 है. लॉटरी के लिए एक साथ बहुत सारे लोगों का हिस्सा लेना जरूरी है वहीं इसमें टिकिट की बिक्री भी जरूरी है.

क्या भारत में लॉटरी गैर कानूनी है?

भारत में लॉटरी के लिए Lottery Regulation Act 1998 है जो लॉटरी खेलने पर प्रतिबंध लगता है. लेकिन इस कानून में एक छूट है. इसके अनुसार यदि राज्य सरकारें अपनी आधिकारिक लॉटरी चलानी चाहती है तो वो ऐसा कर सकती है. इसके लिए उन्हें कुछ नियमों का पालन करना होगा.

– कोई भी इनाम पहले से घोषित करके किसी नंबर या किसी एक Single Digit के आधार पर नहीं दिया जाएगा.

– राज्य सरकार को लॉटरी के टिकिट पर अपना लोगो लगाना होगा जिससे उसकी वैधता साबित हो.

– लॉटरी के टिकिट राज्य सरकार को या तो खुद बेचने पड़ेंगे या फिर रजिस्टर किए हुए वितरक या एजेंट्स के माध्यम से.

– लॉटरी के टिकिट बेचने से आने वाला पैसा राज्य सरकार के Public Account में डाला जाएगा.

– सभी लॉटरी जो किसी राज्य सरकार के द्वारा चलाई जा रही है उसके परिणाम की घोषणा या ड्रॉ राज्य सरकार ही करेगी.

– राज्य सरकार द्वारा घोषित समय के अंदर अगर कोई व्यक्ति इनाम की राशि के लिए क्लैम नहीं करता है या फिर सबसे बड़ा प्राइज़ किसी के नाम पर नहीं निकलता तो वो राशि राज्य सरकार की प्रॉपर्टी रहेगी.

– लॉटरी का परिणाम यानि ड्रॉ निकालने की जगह उसी राज्य की सीमा में तय की जाएगी जहां की लॉटरी है.

– State Government  किसी भी लॉटरी का ड्रॉ हफ्ते में एक ही बार करेगी. इससे ज्यादा ड्रॉ करने की इजाजद केंद्र सरकार नहीं देती.

– एक साल में किसी भी लॉटरी के छह से ज्यादा बम्पर ड्रॉ नहीं हो सकते.

– आखिरी और जरूरी नियम ये है की केंद्र सरकार अपनी मर्जी से कभी भी लॉटरी के कानून में बदलाव कर सकती है और इसे राज्य सरकार को हर हाल में मानना होगा.

किन राज्यों में लॉटरी कानूनी रूप से मान्य है?

लॉटरी रेग्युलेशन एक्ट 1998 कहता है की जो राज्य सरकार चाहे वह Lottery को शुरू कर सकती है. वैसे भारत में Kerala, Maharashtra, Madhya Pradesh, West Bengal, Punjab, Meghalaya, Arunachal Pradesh, Sikkim, Manipur, Nagaland और Mizoram में लॉटरी खेलना कानूनी रूप से सही और मान्य है.

लेकिन मान लीजिये आप किसी ऐसे राज्य में रहते हैं जहां पर लॉटरी खेलने पर प्रतिबंध हो तो आप दूसरे राज्य की लॉटरी का टिकिट ले सकते हैं और Lottery खुल जाने पर अपने दस्तावेज़ दिखाकर आप लॉटरी का इनाम ले सकते हैं. लेकिन ध्यान रहे जो आपको टिकिट दे रहा है वो आपके राज्य में आकार आपको टिकिट नहीं दे सकता. आपको खुद जाकर वहां से वो टिकिट लेना पड़ेगा.

ऑनलाइन लॉटरी सही या गलत?

कई बार इन्टरनेट पर आपको लॉटरी से संबन्धित विज्ञापन दिखाई दे जाते हैं. अब ऐसे में आप सोच में पड़ जाते होंगे की Internet पर लॉटरी खेलना सही है या गलत है. क्या ये कानून के दायरे में आता है. क्या इसे करने से कोई अपराध हो रहा है? दरअसल ऑनलाइन लॉटरी खेलने में कोई गुनाह नहीं है.

Internet पर कई ऐसे वेबसाइट हैं जो International lottery खेलने का मौका देती है. लेकिन अगर ऑनलाइन लॉटरी खेल रहे हैं तो यहाँ पर आपके साथ धोखा होने की संभावना ज्यादा रहती है. कई बार इनके धोखे के शिकार लोगों की खबरे सामने आई है. इसलिए अगर किसी Website से आप लॉटरी ले रहे हैं तो उसके बारे में अच्छे से जांच पड़ताल करें इसके बाद ही लॉटरी टिकिट खरीदें.

लॉटरी पर टैक्स

मान लीजिये आपने लॉटरी का टिकिट खरीद लिया और आपकी लॉटरी खुल भी गई तो क्या इस पर टैक्स लगेगा? इसका जवाब है ‘हाँ’. आपकी लॉटरी खुलने के बाद आपको लॉटरी की पूरी रकम नहीं मिलती है. इस पर सारे टैक्स काटने के बाद ही राज्य सरकार आपको बचे हुए पैसे देती है. मान लीजिये की आपको एक करोड़ की लॉटरी खुल गई तो आपको पूरे एक करोड़ रुपये नहीं मिलेंगे. इसमें 30 प्रतिशत फ्लैट टैक्स काट लिया जाता है. इनकम टैक्स एक्ट 1961 के अनुसार किसी शो या इनाम में जीते पैसों पर 30% Flat tax लगता है. इसके अलावा अगर कोई जीती हुई राशि 10 लाख से ज्यादा होती है तो उस पर आपको सरचार्ज भी देना होता है. इस तरह आपको 1 करोड़ रुपये की लॉटरी के 60 लाख से थोड़े ज्यादा रुपये मिलेंगे.

लॉटरी का टिकिट ले रहे हैं तो कभी ये न सोचे की जीतने पैसे उस पर लिखे हुए हैं उतने आपको पूरे मिल जाएंगे. आपको मिलेंगे तो उतने ही पर आपकी जो उस लॉटरी से इनकम होगी उस पर Income Tax काट लिया जाएगा और उस कमाई के हिसाब से सरकार जितने टैक्स काट सकती है उसके बाद ही बची हुई रकम सरकार आपको देगी. अब पैसा खुद सरकार दे रही है तो आप इसमें किसी भी तरह से टैक्स की बचत भी नहीं कर सकते. इसलिए सरकार जितना देगी आपको उतना लेना पड़ेगा.

लॉटरी खेलना अच्छी बात है लेकिन इसमें आपको बहुत ही संभालकर रहना पड़ता है. अगर आप लॉटरी के टिकिट खरीदना चाह रहे हैं तो पहले अपने राज्य में उसके नियमों को अच्छी तरह जाने. अगर आप किसी और राज्य से लॉटरी का टिकिट खरीद रहे हैं तो उसके नियम के बारे में जाने. कई बार Lottery खुलने पर पैसे देने से इंकार कर दिया जाता है इसलिए ऐसी स्थिति से बचने के लिए सबसे पहले इनके नियमों को अच्छी तरह पढ़ें और समझें इसके बाद ही लॉटरी खोलने के सपने देखें.

Dream 11 क्या है, टीम कैसे बनाएं, पैसे कैसे कमाएं?

Capital Gain क्या होता है, कैपिटल गैन टैक्स किस तरह जोड़ा जाता है?

Jio Mart क्या है जियो मार्ट से क्या फायदा होगा?

सीनियर सिटिज़न सेविंग स्कीम (SCSS) की पात्रता और फायदे?

IMPS क्या है (What is IMPS) आईएमपीएस के जरिये पैसे कैसे ट्रांसफर करें?

error: Content is protected !!