National Sports Talent Search Scheme (NSTSS) क्या है इसके नियम तथा लाभ?

भारत में कई सारे ऐसे बच्चे हैं जो पढ़ने-लिखने में बेहद होशियार होते हैं और किसी न किसी क्षेत्र में देश का नाम रोशन करते हैं और कुछ बच्चे ऐसे होते हैं जो पढ़ने-लिखने में होशियार नहीं होते हैं लेकिन उनकी खेल में काफी दिलचस्पी होती है. ये ऐसे होते हैं कि इनका जिस खेल में मन लगता है ये उसके मास्टर बन जाते हैं लेकिन दिक्कत ये आती है कि इन्हें इस खेल के माध्यम से कैसे आगे बढ़ा जाए इस बात को बताने वाले लोग नहीं होते या फिर इन्हें खुद पता नहीं होता.

ऐसे में कई बार हमारे देश का Sports Talent जो किसी International Game या फिर Olympics में Gold ला सकता था वो गुमनामी के अंधेरे में चला जाता है. इन सभी Talented बच्चों को एक सही प्लेटफॉर्म देने के लिए सरकार की एक स्कीम है जिसमें उन बच्चों को चुना जाता है जो वाकई में टैलेंटेड होते हैं. इस स्कीम का नाम है ‘National Sports Talent Search Scheme’. जिन लोगों की भी खेलों में दिलचस्पी है उन्हें इस स्कीम के बारे में जरूर जानना चाहिए.

नेशनल स्पोर्ट्स टैलेंट सर्च स्कीम क्या है?

नेशनल स्पोर्ट्स टैलेंट सर्च स्कीम Central Government द्वारा चलाई जा रही एक बेहतरीन योजना है जिसका मुख्य उद्देश्य देश में छुपे टैलेंटेड बच्चों की प्रतिभा को निखारना है. इस स्कीम के तहत हर साल 1000 लड़के और 1000 लड़कियां चुनी जाती है जिन्हें देश के Top Sports Institute में खेलने के लिए तैयार किया जाता है. ताकि वे नेशनल और International Games में खेलकर भारत का नाम रोशन कर सकें. इसके लिए हर साल नेशनल स्पोर्ट्स टैलेंट सर्च स्कीम के पोर्टल पर Online Application लिए जाते हैं. जिनमें लगभग 2000 बच्चों को चुना जाता है और इसके बाद उन्हें ट्रेन किया जाता है ताकि उन्हें खेलने के लिए सही गाइडेंस और Platform मिले और भविष्य में वे भारत का नाम रोशन कर सके.

नेशनल स्पोर्ट्स टैलेंट सर्च स्कीम के लिए पात्रता

National Sports Talent Search Scheme में आवेदन करना तो आसान है लेकिन इसमें जगह बना पाना मुश्किल है क्योंकि इसके नियम थोड़े से कठिन है जिन्हें हर बच्चा पूरा कर पाए ये जरूरी नहीं है.

– बच्चे की उम्र कम से कम 8 साल और ज़्यादा से ज़्यादा 12 साल होनी चाहिए.

– बच्चा चौथी कक्षा से लेकर छठी कक्षा में अध्ययनरत हो.

– बच्चा शारीरिक रूप से पूरी तरह फिट हो. उसे कोई शारीरिक अक्षमता न हो.

– उसके शरीर का नाम खेल के अनुसार होना चाहिए.

– बच्चे ने District level, Central Sports, Junior Sports Academy से जुड़ा हो या इनके कॉम्पीटिशन में खेला हो.

नेशनल स्पोर्ट्स टैलेंट सर्च स्कीम अप्लाई

नेशनल स्पोर्ट्स टैलेंट स्कीम के लिए अप्लाई करना बेहद आसान है क्योंकि ये पूरा काम ऑनलाइन है. आप सीधे National Sports Talent Search Scheme की Official Website पर जाकर इसके लिए आवेदन कर सकते हैं. आवेदन करने का Process निम्न है.

– सबसे पहले आपको नेशनल स्पोर्ट्स टैलेंट सर्च स्कीम की वेबसाइट (https://www.nationalsportstalenthunt.com/) पर जाना है.

– यहां पर आपको Register नाम का ऑप्शन दिखाई देगा. उस पर क्लिक करें.

– इसके बाद आपके सामने एक फॉर्म खुलेगा. उसमें जो जानकारी मांगी गई है उसे भरकर सबमिट कर दें.

– इसके बाद आपको अपनी प्रोफाइल बनाने का ऑप्शन नजर आएगा. अपनी खुद की प्रोफाइल बनाएं. उसमें बताएं कि आपने इससे पहले किस-किस कॉम्पीटिशन को जीता है. आपकी रूचि किस खेल में है ताकि Sports Authority को आपको सिलेक्ट करने में परेशानी न हो.

– प्रोफाइल बनाने के बाद आपको इसमें ‘स्कीम’ के बारे में पूछा जाएगा. यहां पर स्कीम से मतलब आपको देश के किस Sports Authority के अंडर में रहकर अपनी तैयारी करनी है और किसी खेल के लिए करनी है. यहां पर आपको तकरीबन 9 स्कीम की लिस्ट दी जाएगी.

नेशनल स्पोर्ट्स टैलेंट सर्च स्कीम का फायदा

National Sports Talent Search Scheme एक अच्छी स्कीम है जहां पर आप अपने खेल की प्रतिभा को निखार सकते हैं. अगर आप इस स्कीम में सिलेक्ट हो जाते हैं तो आपको निम्न फायदे मिलते हैं.

– इस पूरी Scheme में अलग-अलग अथॉरिटी अपने हिसाब से आपको वित्तीय मदद देती है.

– इस Scheme की मदद से आप अपने खेल को निखारने पर पूरी तरह मेहनत कर पाते हैं.

– इस Scheme की मदद से आप नेशनल और International Level पर कई गेम्स में हिस्सा ले सकते हैं और अपना और अपने देश का नाम रोशन कर सकते हैं.

– इस स्कीम में आने के लिए आपको किसी बिचौलिए की जरूरत नहीं पड़ती. आप सीधे Online Form भरते हैं और अथॉरिटी अपने हिसाब से आपको सिलेक्ट करती है.

नेशनल स्पोर्ट्स टैलेंट सर्च स्कीम सिलेक्शन टेस्ट

इस स्कीम जो बच्चे शॉर्ट लिस्ट होते हैं उनका Physical Efficiency and Sports Aptitude Test लिया जाता है. इसमें कुछ फिजिकल एक्टिविटी के माध्यम से ये देखा जाता है कि बच्चा स्पोर्ट्स के लिए केपेबल है या नहीं. इसे पास करने के बाद ही स्पोर्ट्स अथॉरिटी इनका फाइनल सिलेक्शन करती है.

यह योजना बच्चों में खेल की भावना को बड़ाने और देश में छुपी प्रतिभाओं को ढूंढने के लिए शुरू की गई है. अक्सर हमारे देश में Player गांव से ही होते हैं लेकिन गांव में ये पता नहीं होता है कि इस Sports में आगे कैसे बढ़ा जाए.

कोई बच्चा जो 8 से 12 साल की उम्र में खेल में कमाल का प्रदर्शन कर रहा है उसके लिए ये Platform काफी अच्छा है. यहां उसे अपना भविष्य बनाने और खुद का तथा देश का नाम रोशन करने का मौका मिलता है. किसी भी बच्चे के अंदर अगर आप ऐसी प्रतिभा देखते हैं तो उसे इस योजना के बारे में जरूर बताएं.

PMSMA प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व योजना क्या है, इसके क्या फायदे हैं?

Sukanya Samriddhi Yojana सुकन्या समृद्धि योजना के नियम, फायदे और पात्रता

PMKVY Training : प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना क्या है, रोजगार ट्रेनिंग के लिए कैसे अप्लाई करें?

प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना क्या है, PMMVY का लाभ कैसे उठाए?

PMEGP Scheme क्या है, बिजनेस शुरू करने के लिए सबसिडी वाला लोन?

Education Loan कैसे मिलता है, एजुकेशन लोन पर कितना ब्याज लगता है?

error: Content is protected !!