Access Control System क्या है, कैसे काम करता है?

कॉल सेंटर, IT company या कुछ ऑफिस में आपने ऐसे System को देखा होगा जिसमें आपको किसी केबिन या फ्लोर पर जाने के लिए एक विशेष तरह के कार्ड को स्कैन करवाना पड़ता है या फिर अपने Fingerprint की मदद से आपको अंदर जाना पड़ता है. इस तरह के सिस्टम को एक्सेस कंट्रोल सिस्टम (Access control System) कहते हैं. ये सुरक्षा की दृष्टि से आजकल काफी प्रचलन में हैं.

एक्सेस कंट्रोल सिस्टम क्या है? What is an Access Control System

एक्सेस कंट्रोल सिस्टम एक तरह की Electronic Security Technology है. जिसके जरिये हम किसी विशेष जगह पर आने-जाने वाले व्यक्तियों को कंट्रोल कर सकते हैं और कौन आया-कौन गया इसका डाटा रख सकते हैं. Access System के जरिये हम सिर्फ उन्हीं व्यक्तियों को अंदर आने दे सकते हैं जिन्हें हमने अंदर आने की पर्मिशन दे राखी है.

अगर कोई व्यक्ति जिसके पास एक्सेस कार्ड या एक्सेस कोड नहीं है उस व्यक्ति के लिए उस क्षेत्र का दरवाजा कभी नहीं खुलता. एक्सेस कंट्रोल दो तरह के होते हैं फिजिकल और लॉजिकल. फिजिकल एक्सेस कंट्रोल सिस्टम का उपयोग हम किसी कैंपस, बिल्डिंग, आईटी कंपनी आदि में करते हैं. लॉजिकल एक्सेस कंट्रोल सिस्टम का उपयोग हम कम्प्युटर में फ़ाइल और डाटा के ट्रांसफर पर कंट्रोल करने के लिए करते हैं.

एक्सेस कंट्रोल सिस्टम का काम करने का तरीका Types of Access Control Systems

एक्सेस कंट्रोल सिस्टम (Access Control System) के काम करने का तरीका आसान है. इसमें एक डिवाइस में सबसे पहले डाटा का रजिस्टर किया जाता है. यानि किस व्यक्ति को अंदर आने देना है उस व्यक्ति को आप इस डिवाइस में रजिस्टर करते हैं. इसके बाद उस व्यक्ति को अंदर आने के लिए एक कार्ड दिया जाता है जिसे एक्सेस कार्ड कहा जाता है. इस एक्सेस कार्ड को वो व्यक्ति गेट पर लगी डिवाइस पर लगता है.

डिवाइस उसे झट से स्कैन करती है और उसे अंदर आने के लिए गेट को खोल देती है. इसके अलावा फिंगरप्रिंट के जरिये भी एक्सेस दिया जाता है. कंपनी को जिस व्यक्ति को अंदर आने देना है वो उसके फिंगरप्रिंट एक डिवाइस में इन्स्टाल करती है और जब भी वो व्यक्ति आना चाहता है उसे अपना Fingerprint दिखाकर अंदर आने की परमिशन मिल जाती है.

एक्सेस कंट्रोल सिस्टम इन्स्टाल करने का तरीका How to install an Access Control System

एक्सेस कंट्रोल सिस्टम को इन्स्टाल करने से पहले आपको इस बात का चयन करना पड़ता है की आपको किस तरह का एक्सेस कंट्रोल सिस्टम लगवाना है. मार्केट में आपको कई तरह के एक्सेस कंट्रोल सिस्टम मिल जाते हैं. तकनीक के हिसाब से दो तरह के एक्सेस कंट्रोल सिस्टम होते हैं. पहला तो वो जिसमें सिर्फ एक ही दरवाजा सेटअप होता है और दूसरा वो जिसमें बहुत सारे दरवाजे एक एक्सेस कंट्रोल सिस्टम के जरिये सेटअप किए जाते हैं. इन चीजों के साथ आपको इस चीज का भी चुनाव करना पड़ता है की आप कार्ड एक्सेस कंट्रोल सिस्टम लेंगे या फिर फिंगरप्रिंट एक्सेस कंट्रोल सिस्टम (Fingerprint Access Control System) लेंगे.

एक्सेस कंट्रोल सिस्टम की केबलिंग Access Control Systems Calling

एक्सेस कंट्रोल सिस्टम को चुनने के बाद बारी आती है इसकी केबलिंग की. इसकी केबलिंग करना आसान है लेकिन इसके लिए आप किसी जानकार को बुलाये तो ही अच्छा होगा. इसमें मल्टी डोर एक्सेस कंट्रोल सिस्टम के लिए आपको एक पैनल का स्थान चुनना होगा. जहां पर आप इसे इन्स्टाल करना चाहते हैं.

अब पैनल से हर एक दरवाजे तक आपको 3 केबल पहुंचानी होती है. ये केबल 4 कोर से 12 कोर तक की हो सकती है. अब इन केबल को आपको दरवाजे की फ्रेम की बांह में डालनी है ये केबल 2 कोर तक की रहनी चाहिए. इस वायर के साथ आपको EM Lock लगाना होता है. इसके अलावा एक आखिरी केबल Exit Button के लिए भी लगानी होती है. इसमें भी 2 कोर की केबल से काम चल जाता है. इसी तरीके से आपको हर दरवाजे की वायरिंग करनी होती है.

अगर आप बायो मेट्रिक वाला एक्सेस कंट्रोल सिस्टम लगवाना चाह रहे हैं तो इसके लिए ज्यादा वायर की जरूरत नहीं होती है. इसमें आपको रीडर और EM Lock को पावर देने के लिए जहां पर पावर सप्लाइ रखेंगे वहाँ दो वायर को रीडर के पास जो दरवाजे के बाहर की तरफ लगता है उसके पास निकाल दें. अब एक 2 कोर वायर रीडर से EM lock में और एक रीडर से एक्ज़िट बटन में निकाल दें. इस तरह से एक्सेस कंट्रोल सिस्टम की वायरिंग हो जाती है. इसकी वायरिंग करने का तरीके इसके User Manual में भी दिया होता है.

इसमें वायरिंग करने के बाद आपको इसमें डाटा Installed करना पड़ता है यानि आप किन व्यक्तियों को इसे एक्सेस करने की परमिशन देना चाहते हैं उसका डाटा आपको इसमें इन्स्टाल करना पड़ता है. ये डाटा एक कार्ड, Fingerprint और पिन के रूप में हो सकता है. इसके बाद जिस यूजर के पास ये डाटा होगा वो यूजर इसे एसेक्स कर पाएगा और उस गेट को खोल पाएगा. इसका उपयोग आमतौर पर कड़ी सुरक्षा के लिए किया जाता है ताकि कोई बाहरी व्यक्ति कंपनी के किसी विशेष क्षेत्र में न घुस सके.

Keylogger क्या होता है,Keylogger से कैसे बचें?

Ethernet क्या है ईथरनेट के प्रकार और उपयोग

कम्प्युटर/लैपटाप हैंग क्यों होता है, हैंग होने से कैसे बचाएं?

कैश मेमोरी क्या है (Cache Memory) का उपयोग और लाभ?

Yubico Key क्या है, इसे कैसे सेट करें और यूबिको की का क्या फायदा है?

RAM और ROM क्या होते है, इनमे क्या अंतर है?

error: Content is protected !!