PMSMA प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व योजना क्या है, इसके क्या फायदे हैं?

किसी भी देश के लिए सबसे जरूरी ये है कि वहां के लोग स्वस्थ रहे. लोगां को स्वस्थ रखने के लिए ढेर सारी योजनाएं देश में चल रही है. उन में से एक (Schema) योजना है PMSMA प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व योजना. ये योजना मुख्यतौर पर गर्भवती महिलाओं के लिए है ताकि गर्भावस्था के दौरान महिला स्वस्थ रहे और उसका बच्चा भी स्वस्थ पैदा हो. इस योजना के अनुसार गर्भवती महिला तथा उसके बच्चे की जांच तथा (Free Treatment) इलाज मुफ्त किया जाता है ताकि पैसों की कमी के कारण उनके स्वस्थ पर असर न पड़े.

प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व योजना क्या है? Pradhan Mantri Surakshit Matritva Abhiyan – PMSMA

कई बार ऐसा होता है कि गर्भवती महिलाएं जो खासतौर पर शहर से दूर रहती हैं वो पैसों की तंगी के कारण या फिर गर्भावस्था में सचेत न रहने के कारण अस्वस्थ हो जाती है जिसके कारण उसे कई तरह की बीमारी हो जाती है या जान जाने का खतरा रहता है. यही सारी स्थिति उसके होने वाले बच्चे की भी होती है. इन सभी परिस्थितियों से गर्भवती महिला तथा उसके बच्चे को बचाने के लिए इस योजना को साल 2016 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा लॉन्च किया गया था.

ये गर्भवती महिलाओं के लिए है जो अपनी गर्भावस्था में अनेक बीमारियों से ग्रस्त हो जाती है. और समय पर Treatment न मिल पाने के कारण अस्वस्थ हो जाती है या उनकी मृत्यु हो जाती है. कई बार इसी कारण उनका बच्चा मृत पैदा होता है. जब महिला गर्भवती होती है तो उन्हे कई स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं जैसे ब्लडप्रेशर, शुगर जैसी समस्या हो जाती है. ये योजना महिलाओं को इन सभी समस्याओं से बचाने के लिए शुरू की गई है.

प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व योजना की योग्यता

इस योजना का लाभ वैसे तो भारत की सभी महिलाएं ले सकती है लेकिन इसके लिए कुछ जरूरी शर्तें हैं जिन्हें पूरा करना जरूरी है.

– इस योजना का लाभ भारत की नागरिक महिला जो गर्भवती है वही ले सकती है.
– इसका लाभ ऐसी गर्भवती महिला ले सकती है जिन्हें गर्भधारण किए हुए 3 माह से 6 माह का समय बीत चुका हो.
– इस योजना का लाभ सिर्फ अर्द्ध शहरी क्षेत्र तथा ग्रामीण क्षेत्रों में रह रही महिलाएं ही ले सकती है क्योंकि वे गर्भधारण के दौरान अपने स्वास्थ्य के लिए सचेत नहीं होती है.
– इसका लाभ शहरी क्षेत्र की महिलाएं नहीं ले सकती हैं क्योंकि शहर में सरकारी अस्पताल और डिस्पेंसरी होते हैं और इन्हें सचेत करने के लिए कई तरह के कार्यक्रम शहर में चलाए जाते हैं.

प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व योजना से लाभ

प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व योजना का लाभ गर्भवती महिलाओं को तो मिलता है लेकिन इस योजना के अंर्तगत उन्हें क्या-क्या लाभ मिलता है ये भी जानना जरूरी है. इस योजना के तहत निम्न लाभ मिलते हैं.

– योजना के तहत हर महीने गर्भवती महिला के स्वास्थ्य की जांच की जाती है जिसमें उसके अलग-अलग टेस्ट जैसे ब्लड प्रेशर, शुगर आदि की जांच की जाती है.
– योजना के तहत गर्भवती महिला के लिए जितनी भी जांच होती है वो मुफ्त में होती है.
– योजना के तहत जितनी भी जांचे की जाती है उन्हें मेडिकल सेंटर, अस्पताल, सरकारी स्वास्थ्य केंद्र पर बिना किसी शुल्क के की जाती है.
– योजना के तहत गर्भवती महिला जो अलग-अलग समस्याओं से पीड़ित हैं उन्हें चिन्हित किया जाता है ताकि चिकित्सक इन्हें आसानी से पहचान सके और इलाज शुरू करने में उन्हें कोई परेशानी न हो. वे तुरंत इलाज शुरू कर सके.
– इस योजना का लाभ मां के साथ-साथ बच्चे को भी मिलता है.
– इस योजना के कारण गर्भस्थ शिशु को बड़ी बीमारी होने से बचाया जाता है ताकि उसके पैदा होने पर वो स्वस्थ पैदा हो और किसी बीमारी से न घिरा हो. इस तरह इसका लाभ माता तथा बच्चा दोनों को ही मिलता है.
– इस योजना से गर्भावस्था के दौरान मृत्यु दर को कम किया जा रहा है तथा देश को स्वस्थ बनाने में योगदान दिया जा रहा है.

प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व योजना के लिए कैसे अप्लाई करें?

प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व योजना का लाभ लेने के लिए आपको अपने नजदीकी आंगनवाड़ी Sarkari Anganwadi Kendra पर जाकर आंगनवाड़ी कार्यकर्ता से इसकी जानकारी लेनी होगी तथा वहां अपने गर्भवती होने की जानकारी देनी होगी. आज के समय में हर जगह आंगनवाडी है. आप वहां जाकर अपना नाम लिखवाएं और जरूरी Document देकर अपना फॉर्म भरें.

इस योजना का लाभ आप गर्भधारण के 3 महीने के बाद से ले सकती हैं. 3 महीने से 5 महीने के दौरान सभी सरकारी स्वास्थ्य केंद्रों, सरकारी अस्पतालों और चिकित्सा संस्थानों में मुफ्त स्वास्थ्य की जांच की जाती है. इसमें ब्लड प्रेशर, शुगर, हीमोग्लोबीन, ब्लड टेस्ट आदि जांचे मुफ्त होती है. जांच के दौरान यदि किसी महिला को कोई समस्या होती है तो उसके मेडिकल कार्ड पर चिकित्सक विभिन्न रंग के स्टीकर का प्रयोग करते हैं.

1.लाल स्टीकर – गंभीर अवस्था वाला मरीज
2.नीला स्टीकर – हाई ब्लड प्रेशर
3.पीला स्टीकर – अन्य स्वास्थ्य समस्या

आप गर्भवती हैं और इस योजना का लाभ लेना चाहती हैं तो आपको अपने नजदीकी आंगनवाड़ी में जाकर संपर्क करना होगा. इसका हिस्सा बनने के लिए आपका ग्रामीण Rural या अर्द्ध शहरी Semi urban क्षेत्र से होना जरूरी है.

अगर आप शहर से हैं तो आप इस योजना का लाभ नहीं ले पाएंगी. तो अगर आप 3 महीने की गर्भवती महिला है या उससे ज़्यादा है तो इस योजना के लिए अप्लाई कर सकती हैं और अपने आप को और अपने बच्चे को स्वस्थ्य रख सकती हैं. इस योजना से आप अपने आप को कई बीमारियों से बचा सकती हैं.

Sukanya Samriddhi Yojana सुकन्या समृद्धि योजना के नियम, फायदे और पात्रता

PMKVY Training : प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना क्या है, रोजगार ट्रेनिंग के लिए कैसे अप्लाई करें?

प्रधानमंत्री मातृत्व वंदना योजना क्या है, PMMVY का लाभ कैसे उठाए?

PMJAY : Ayushman Bharat Yojana के पात्र कौन है, लाभार्थी लिस्ट में अपना नाम कैसे देखें?

MUDRA Loan कैसे मिलता है, मुद्रा लोन के लिए जरूरी योग्यता?

error: Content is protected !!